कविता · Reading time: 1 minute

विष-वृक्ष

पतई तुरला से काम ना चली!
डाली काटला से बात ना बनी!!
अब ये विष-वृक्ष के हमनी के
एकदम जड़ से उखाड़े के पड़ी!!
Shekhar Chandra Mitra
#CommunalPolitics

4 Views
Like
Author
111 Posts · 1.9k Views
Lyricist, Journalist, Social Activist
You may also like:
Loading...