गीत · Reading time: 1 minute

लोरी

लोरी
★★★★★★★★★
निंदिया नहा धो के आजा
बबुनिया के नैन में समा जा

नैन में समा के तू सपना देखावअ
सपना में बबिया के झुलुआ झुलावअ
गीत एगो सुनर सुना जा-
बबुनिया के नैन में समा जा
निंदिया…….बबुनिया…….

हाँथी लेआ दअ लेआ दअ चाँद-तारा
डिबिया में मुनि के लेआ दअ नभ सारा
दुनिया के सैर करा जा-
बबुनिया के नैन में समा जा
निंदिया…….बबुनिया…….

– आकाश महेशपुरी

20 Views
Like
Author
संक्षिप्त परिचय : नाम- आकाश महेशपुरी (कवि, लेखक) मो. न. 9919080399 मूल नाम- वकील कुशवाहा जन्मतिथि- 15 अगस्त 1980 शैक्षिक योग्यता- स्नातक ॰॰॰ प्रकाशन- सब रोटी का खेल (काव्य संग्रह)…
You may also like:
Loading...