· Reading time: 1 minute

तऽ लेके चल चली थावे धाम ए सईया

सुनऽ-सुनऽ हमार जान
हमरा बतिया पे दऽ ध्यान
जबसे लईलऽ गवना कराके
कही घुमईलऽ ना हमराके
आरे थावे के सुनली बड़ी नाम ए सईया
तऽ लेके चल चली
तऽ लेके चल चली हमके थावे धाम ए सईया
माई के दर्शन पावते बन जाई सारा काम ए सईया (साथी)

आरे रऊरे संग जाई माई के दर्शन पवती
सुनसान गोदिया में ललना हम पवती
आरे आंगना के किलकरिया करीत नाम ए सईया
तऽ लेके चल चली
तऽ लेके चल चली हमके थावे धाम ए सईया
माई के दर्शन पावते बन जाई सारा काम ए सईया (साथी)

आरे लगन, उपेन्द्र तनी खोलऽ आपन परस
खुलल लॉकडाउन माई के करऽ तनी दरस
आरे दर्शन पावते हो जाई सारा काम ए सईया
तऽ लेके चल चली
तऽ लेके चल चली हमके थावे धाम ए सईया
माई के दर्शन पावते बन जाई सारा काम ए सईया (साथी)

——————०——————
✍️जय लगन कुमार हैप्पी ⛳
बेतिया (बिहार)

1 Like · 1 Comment · 106 Views
Like
Author
मैं जय लगन कुमार हैप्पी। मेरा वास्तविक नाम लगन है लेकिन घर के छोटे बच्चे यानी भतीजा - भतीजी हमें "बेतिया चाचा" कह कर पुकारते हैं। मैं एक गांव में…
You may also like:
Loading...