· Reading time: 1 minute

बरबादी के साल हवे ई

बारिश ना हऽ काल हवे ई
जिउवा के जंजाल हवे ई

जामि गइल बा खोंता नीयर
धाने के तऽ हाल हवे ई

डूब गइल पानी में गाड़ी
रस्ता हऽ कि ताल हवे ई

मनई के मछरी समझेला
भाई केकर जाल हवे ई

संकट में ‘आकाश’ सभे बा
बरबादी के साल हवे ई

– आकाश महेशपुरी
दिनांक- ०३/१०/२०२१

15 Views
Like
Author
संक्षिप्त परिचय : नाम- आकाश महेशपुरी (कवि, लेखक) मो. न. 9919080399 मूल नाम- वकील कुशवाहा जन्मतिथि- 15 अगस्त 1980 शैक्षिक योग्यता- स्नातक ॰॰॰ प्रकाशन- सब रोटी का खेल (काव्य संग्रह)…
You may also like:
Loading...