गीत · Reading time: 1 minute

पी के घुमे बाजार

पी के घुमे बाजार
■■■■■■■■
पी के घुमे बाजार तऽ ओकर जोश जागेला
गीरेला केतनो मार ना चढ़ल भूत भागेला

पी के झगरा फरिआवेला
हीक हीक भर गरिआवेला
मानेक परी बाटे बूता
डटल रहेला खा के जूता
आ कुर्ता लेला फार तऽ ओकर जोश जागेला
गीरेला केतनो मार ना चढ़ल भूत भागेला

मउगी जे तनिको बोलेले
दारू पियला से रोकेले
पागल हऽ लागेला पीटे
गहना-बीखो सगरी छींटे
बेचेला कंगन हार तऽ ओकर जोश जागेला
गीरेला केतनो मार ना चढ़ल भूत भागेला

पी लेला तऽ धावे लागे
गीत उरेबी गावे लागे
चलेला हरदम अङ्हुआ के
गीरेला मोरी में जा के
पाँको से पावे प्यार तऽ ओकर जोश जागेला
गीरेला केतनो मार ना चढ़ल भूत भागेला

पीये तऽ पीयेला मन से
बदबू फेंके पूरा तन से
समझावे केहू आवेला
गारी दे जब मुँह बावेला
दे सातो पीढ़ी तार तऽ ओकर जोश जागेला
गीरेला केतनो मार ना चढ़ल भूत भागेला

जहिया भर पेटा पी लेला
जिनिगी से बेसी जी लेला
पूरा देहिये हो जा पीयर
हो जाला ऊ मुर्दा नीयर
कि सुई घोपाला चार तऽ ओकर जोश जागेला
गीरेला केतनो मार ना चढ़ल भूत भागेला

सगर खेत बगइचा बेचलस
दारू में अइसन का देखलस
मुँवे के माहुर खोजेले
मेहरारू रोजे रोवेले
आ लइका करें चिघार तऽ ओकर जोश जागेला
गीरेला केतनो मार ना चढ़ल भूत भागेला

– आकाश महेशपुरी
दिनांक- 21/10/2008

22 Views
Like
You may also like:
Loading...