लोकगीत · Reading time: 1 minute

नीक लागे निमिया

नीक लागे निमिया के छइयाँ
झुलुअवा पर पेंग मारें मइया

पँउवा पखारे बदे बरसे सवनवा
मड़ुआ दवनवा से महके अँगनवा
झुर झुर बहेले बेयरिया
झुलुअवा पर पेंग मारें मइया

चउका पुरेले नवरात हजमिनिया
बभना करावे माई तोहरी पुजनिया
बेनिया डोलावे ले मलिनिया
झुलुअवा पर पेंग मारें मइया

भगिया जिनिगिया ‘असीम’ के बना द
अपने सनेहिया के अँचरा ओढ़ा द
रोवे गोहरावेला दुअरिया
झुलुअवा पर पेंग मारें मइया
©️ शैलेन्द्र ‘असीम’

8 Views
Like
Author
10 Posts · 175 Views
शैलेन्द्र कुमार पाण्डेय उपाख्य : 'असीम' माता : स्व. द्रौपदी पाण्डेय पिता : स्व. सूर्यभान पाण्डेय पत्नी : श्रीमती प्रिया पाण्डेय पुत्रियां : श्रेया नव्या तन्वी शिक्षा : एम.एस-सी., बी.एड.,…
You may also like:
Loading...