मुक्तक · Reading time: 1 minute

धरोहर

प्यार केहू के
बुलावेला!
दिल एही से
ई गावेला!
याद केहू के
सतावेला!
दिल एही से
ई गावेला!
हमार गीत
हमार नाहीं,
दोसरा के
धरोहर हवे!
दर्द केहू के
रूलावेला
दिल एही से
ई गावेला!
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
(A Dream of Love)

13 Views
Like
Author
112 Posts · 2k Views
Lyricist, Journalist, Social Activist
You may also like:
Loading...