गीत · Reading time: 1 minute

दिल टूटेला छने छन कई बेर हो

दिल टूटेला छने छन कई बेर हो
■■■■■■■■■■■■■■
दिल टूटेला छने छन कई बेर हो
प्यार में गम मिलेला बड़ी ढेर हो

केहू रोई ना त प्यार में का करी
चैन आवेला ना दिल के एको घरी
जिंदगी में अन्हरिया लेला घेर हो-
प्यार में गम मिलेला बड़ी ढेर हो

उ रूठल बा जबसे खुशी खो गइल
प्यार के धार में जिंदगी खो गइल
राह देखत सनम के भइल देर हो-
प्यार में गम मिलेला बड़ी ढेर हो

हमके हमरे से बाउर बना के गइल
रोग दिल के उ कइसन लगा के गइल
लागे दुनिया में बा खाली अंधेर हो-
प्यार में गम मिलेला बड़ी ढेर हो

– आकाश महेशपुरी

2 Likes · 1 Comment · 262 Views
Like
Author
संक्षिप्त परिचय : नाम- आकाश महेशपुरी (कवि, लेखक) मो. न. 9919080399 मूल नाम- वकील कुशवाहा जन्मतिथि- 15 अगस्त 1980 शैक्षिक योग्यता- स्नातक ॰॰॰ प्रकाशन- सब रोटी का खेल (काव्य संग्रह)…
You may also like:
Loading...