कविता · Reading time: 1 minute

तोहार राय ज़रूरी बा

उजला-उजला
बादल औरी
नीला-नीला
आसमान पर!
लिखले बानी
केतना ग़ज़ल
पढ़ लीहअ
तू चान पर!!
दुनिया भर के
काम से
फूर्सत कबो
निकाल के!
भेजिहअ आपन
राय ज़रूर
तू हमरा वो
दीवान पर!!
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
(A Dream of Love)

13 Views
Like
74 Posts · 620 Views
You may also like:
Loading...