गीत · Reading time: 1 minute

चल कबीरा

चल कबीरा
ओही देश
चल फकीरा
ओही देश…
जाहां ना
कवनो भय
जाहां ना
कवनो क्लेश…
ऊंच-नीच
इहां राह
डेगे-डेगे
लागे ठेस…
घूमेलें इहां
बटमार
धरके
जोगी के भेस…
ऊ नील
गगन के हंसा
का देला
समझ संदेश…
तोड़ के
सगरी मोह
छोड़ के
अब परदेश…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#Nirgun
#OshoVosion

8 Views
Like
74 Posts · 609 Views
You may also like:
Loading...